80s toys - Atari. I still have
HomeTech-BlogDil Se..About me

उबर को टक्कर देने आ रही है गूगल कैब सर्विस


Google's Driverless Cabs


दुनिया की सबसे बड़ी इंटरनेट कंपनी गूगल जल्द ही ऐपलीकेशन आधारित कैब सेवा शुरू करने की तैयारी में है. आपको जानकार हैरानी होगी कि इस समय अपने सिस्टम की वजह से आलोचना झेल ही उबर कैब सर्विस में गूगल की बड़ी हिस्सेदारी है.

गूगल ने साल 2013 में अपनी निवेशक कंपनी गूगल वेंचर्स के जरिये उबर टैक्सी में करीब 258 मिलियन अमेरिकी डॉलर का निवेश किया था जो गूगल वेंचर्स की तरफ से किसी भी क्षेत्र में किया गया अब तक का सबसे बड़ा निवेश है.

न्यूज़ वेबसाइट 'ब्लूमबर्ग न्यूज़' के मुताबिक गूगल की इस नई पहल के पीछे मुख्य वजह गूगल अपने एक महत्वाकांक्षी योजना 'ड्राइवरलैस कार' पर काम कर रहा है, लेकिन जब गूगल को पता चला कि उबर भी ऐसे ही एक प्रोजेक्ट पर काम कर रहा है तो गूगल ने उबर से खुद को अलग कर उबर को सीधे टक्कर देने की विचार कर रहा है.

'ब्लूमबर्ग न्यूज़' में छपी खबर के मुताबिक गूगल अपने इस ऑटोनॉमस प्रोजेक्ट पर बहुत तेजी से काम कर रहा है. कुछ समय पहले गूगल के चीफ लैरी पेज ने अपने एक बयान में कहा था कि गूगल बिना ड्राइवर की कार बनाने के प्रोजेक्ट पर गूगल-X रिसर्च लैब में चल रही है. लैरी पेज़ ने यह भी कहा था कि कंपनी को भरोसा है कि अगले तीन से पांच सालों के भीतर ही हमारी यह कार दुनिया भर की सड़कों पर दौड़ती दिखाई देगी.

आपको बता दें गूगल ने अपनी कैब सर्विस के लिए एक ऐपलीकेशन भी बना लिया है. गूगल के कर्मचारी इस खास ऐपलीकेशन की टेस्टिंग में बिजी हैं. उबर की टैक्सी सेवा भी ऐप आधारित है.

खबरों के मुताबिक उबर ने भी कार्निज मेलन यूनीवर्सिटी के साथ पार्टनरशिप की घोषणा की है. उबर का कहना है कि इस पार्टनरशिप से उबर एडवांस्ड टेक्नोलॉजी सेंटर की शुरुआत करेगी. उबर भी ड्राइबर रहित कार बनाने की योजना पर तेजी से काम कर रहा है.

Share on Facebook


Dil Se... ब्लॉग पर जाएँ।


Back to posts
Comments:

Post a comment

Visitors:1323
dilse.madpath.com | tecn.xtgem.com